Skip to main content

SEO क्या है और सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कैसे करते हैं?

SEO क्या हैं और Search Engine Optimization कैसे करते है ? आपने कभी यह सोचा था कि हमें इस Topic के बारे में भी जानना परेगा लेकिन जो लोग Blogging या Website के Feild में प्रवेश करते हैं,

उन्हें यह जान लेना बहुत ही Importent हैं। SEO कहीं जाती हैं की ये Blogging तथा किसी भी प्रकार के Website की जान होती हैं।

अगर हम blogging की ही बात करें तो उसमे Bloggers चाहें तो कितनी भी मेहनत करके बड़ी से बड़ी Article क्यों न लिख ले पर वो अगर Search Engine पर Rank नहीं करें तो वो किसी काम का नहीं होता हैं

क्योंकि तब उसमे उतनी Traffice नहीं आती हैं। यहीं कारण वस राइटर्स का जितना भी मेहनत होता हैं वो बेकार चले जाता हैं।

इस आधुनिक दुनियां में भारत समेत सभी देशों में Internet का तेज प्रभाह हैं। जहां लगभग हर काम किया जा सकता हैं, पर Internet जितना अच्छा हैं वो उतना ही लोगों को अपने कालचक्र में समेट रहा हैं।

लेकिन किया भी तो क्या जा सकता हैं। इस Degital World में अगर आपको अपने आप को लोगों के सामने Represent करना हैं तो आपको इसी Internet का सहारा लेना परेगा क्योंकि यहीं एक मात्र Option हैं आपके पास करोड़ों लोगों के सामने आने का।

लोगों के सामने जाने के कई माध्यम हैं। आपका वो माध्यम Video हो सकता हैं या फिर आप Blog पर लिखित Content के जरिए भी लोगों तक पहुंच सकते हो।

लेकिन ये इतना आसान नहीं हैं क्योंकि अगर लोगों के सामने आना हैं तो आपको Search Engine के पहले page पर आना होगा जिसके लिए आपको कुछ नया करना होगा। पहले पेज पर आने से लोगों का विश्वास आप पर बनेगा जिससे आपको लोग Follow करेंगे।

चुकीं यह करना आसान नहीं हैं क्योंकि ऐसा करने के लिए आपको अपने Article का अच्छी तरह से SEO करना होगा।

या फिर दूसरी भाषा में कहें तो उसे अच्छी तरह से Optimized करना होगा जिस कारण से वो Search Engine पर अच्छी तरह से Rank करेगा।

इसी कम को करने की प्रक्रिया को ही हम SEO कहते हैं। तो चलिए आज हम इसी Topic SEO किसे कहते हैं (What is SEO in Hindi) और कैसे करे पर बात करेंगे।

Factsonline.xyz में मैने कई Blogging के Related Information दी हैं जो की आपके Blog तथा किसी भी Website के लिए सफल और आवश्यक हैं।

वैसे तो एक blog के लिए कई सारी बातें महत्वपूर्ण हैं लेकिन उन सभी में से किसी भी blogging career को सहीं मुकाम तक पहुंचाने में SEO की Importent Roll हैं।

आज हम जानेंगे की search engine optimization क्या होता हैं और यह क्यों जरूरी हैं?

SEO क्या है – What is SEO in Hindi

SEO क्या हैं और Search Engine Optimization कैसे करते है ?

SEO क्या है - SEO or Search Engine Optimization एक ऐसा तरीका हैं जिसका उपयोग कर हम अपने Pages चाहे वो एक Blog क्यों ना हों उसे हम किसी भी Search Engine पर Rank कराते हैं।

Search Engine क्या होता हैं ये तो आप भली भांति जानते हैं लेकिन मैं बता दू की most popular search engine Google हैं और इसके अलावा दुनियां में और भी search engine मौजुद हैं जैसे कि Bing,Yahoo आदि। इन search engine में हम अच्छी SEO करके अपनी blog को Rank करवा सकते हैं।

जैसे की मान ले की आप कोई भी keyword google पर जाके search करते हैं तो वो आपके Questions के related Answers को आपके सामने प्रस्तुत कर देता हैं। शायद आपको पता नहीं हो वो Answers दूसरे दूसरे blog से आते हैं जिन्हें की google बस show करता हैं।

आप जब keyword google पर search करते हैं तो आपको काफी websites Rank करती हुई दिखती हैं लेकिन जो Top पर हैं उसका मतलब यह हैं की उस ब्लॉग पर SEO काफी अच्छी की हुईं हैं। जिससे उसपर ज्यादा मात्रा में Visitors जाते हैं उसे Visit करने के लिए।

अगर साफ शब्दों में कहें तो SEO हमारे ब्लॉग को Google में No.1 rank तक पहुंचाने में बहुत बड़ा Roll निभाता हैं। मैं फिर बता दू की यह एक ऐसी तकनीक हैं जिसके मदद से ब्लॉग Serch result में top पर Show करती हैं और आपकी ब्लॉग पर Visitors की संख्या भी बढ़ती हैं।

अगर आप अपने Blog पर Organic Traffic को बढ़ाना चाहते हैं तो आपको भी अपने ब्लॉग का अच्छे से SEO करना होगा जिससे वो Search Engine पर Rank करेगा जिससे लोग जब अपने सवालों को पूछेंगे तो आपका ब्लॉग ही उने पहले दिखेगा और वो आपके ब्लॉग को ही पहले open करेंगे। इन कारणों से SEO काफी Important हो जाता हैं।

SEO का फुल फॉर्म क्या है?

SEO का पूर्ण नाम या Full Form है "Search Engine Optimization" अगर SEO के फुल फॉर्म को हिंदी में देंखे तो वो "सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन" हैं।

SEO Blog के लिए क्यों जरुरी है?

यहां तक तो अब आप जान ही चुके होंगे की SEO क्या हैं, लेकिन SEO एक blog या website के लिए क्यों आवश्यक होता हैं? ये सवाल मन में जरुर आता हैं तो चलिए जानते हैं की SEO का उपयोग क्यों किया जाता हैं?

मान ले की आप एक blog create कर लेते हैं फिर आप उसमे अच्छे अच्छे contents भी डाल देते हैं जो contents काफी बेहतर quality के हो

लेकिन फिर भी वो Search Engine पर रैंक नहीं कर रहा हों तो इसका सबसे बड़ा कारण SEO हो सकता हैं। अगर रैंक नहीं कर रहा हैं तो आपके ब्लॉग में traffic भी नहीं आयेगी जिससे blog का कोई फायदा ही नहीं रहेगा।

अगर कोई भी Search Engine पर जाके कोई keyword को search करेगा अगर उस keyword के बारे में आपने अपने blog में लिखा हैं तब भी लोग आपके content को नहीं acces कर पाएंगे क्योंकि आपने उस Page का SEO नहीं किया था।

ऐसा इस कारण वस होता हैं क्योंकि search engine आपके blog को नहीं ढूंढ पता हैं और आपके blog के Informative Content को अपने database में भी नहीं store नही करा पाएगा।

इसी कारण से आपके ब्लॉग में traffic भी नहीं आयेगी। यहीं कारण हैं की आपको अपने blog का सही तरीके से SEO करना बहुत ही जरूरी हैं।

SEO को अगर आप अच्छी तरीके से सीख या जान लेते हैं तो आप अपने blog को काफी अच्छा बना सकते हैं और अपने blog का value search engine पर बहुत अधिक बढ़ा सकते हैं।

ये बात का ध्यान रखें की अगर आप SEO करना सीख लेते हैं और उसके बाद उसका Use अपने blog पर करते हैं लेकिन इसका फायदा तुरंत नजर नहीं आएगा इसके लिए आपको धैर्य बनाकर रखना होगा। क्योंकि सब्र का फल हमेशा से ही मिठ्ठा होता हैं।

SEO (Search Engine Optimization) इतना महत्वपूर्ण क्यूँ है?

SEO के बारे में कुछ और महत्वपूर्ण बातें—

  • दुनिया के जितने भी लोग Smartphone को use करते हैं वो सभी अपने प्रसन्नों के उत्तर Search Engine पर ही खोजते हैं और वे अपने उत्तर को पहले page में उपस्थित blogs पर ही देख लेते हैं इसीलिए आपको भी SEO का उपयोग करके पहले page पर अपने ब्लॉग को rank कराना होगा।
  • आपको अगर ऐसा लगता हैं कि SEO सिर्फ Search Engine के लिए होता हैं तो ऐसा नहीं हैं। अगर आप अच्छी तरह से SEO की practice कर लेते हैं तो आप अपने blog के user experience को और भी बेहतर बना सकते हैं तथा इसके साथ साथ आप अपनी website usability को भी अच्छा कर सकते हैं।
  • Top के जो ब्लॉग होते हैं उन पर लोग ज्यादा विश्वास करते हैं इसीलिए आपकी भी कोशिश top के pages में जाना ही होना चाहिए।
  • SEO आपको अपने विरोधी से आगे रहने में हमेशा मदद करता हैं।

SEO के कितने प्रकार है ?

चलिए जानते हैं कि SEO के कितने प्रकार होते हैं। मैं बता दूं तो SEO के दो प्रकार होते हैं। पहला Onpage SEO दूसरा Offpage SEO ये दोनों ही अलग अलग हैं। इनका कार्य भी अलग अलग ही होता हैं।

  1. On Page SEO
  2. Off Page SEO
  3. Local SEO

1. On-Page SEO क्या होता है

शायद आपको पता न हो लेकिन On Page SEO का हमारे blog पर बहुत अधिक काम होता हैं, इसका लाभ भी बहुत अधिक होता हैं।

इसका तात्पर्य ये हैं कि अपने blog या website को अच्छी तरह से design करना तथा उसे SEO और User Friendly बनना होता हैं।

SEO का उपयोग अगर हम अपने ब्लॉग पर करते हैं जैसे की अपने ब्लॉग का template User Friendly चुनना और अच्छी तरह से Articles लिखना तथा उसमें बखूबी Keywords का उपयोग करना जो हर एक Search Engine को अपनी blog तरफ आकर्षित करता हैं।

अगर आप निम्न कार्यों का अच्छी तरह से उपयोग कर के अपनी articles को लिखते हैं तो Google को आपके Content की पहचान करने में कोई भी कठिनाई नहीं होती हैं।

अगर सीधी बातो में कहे अगर आपने इन कार्यों को किया तो google को यह पता चलता हैं की आपने अपने content को किस Topic पर लिखा हैं। वो कार्य निम्न हैं—

  • Page में सही जगह keywords का उपयोग करना।
  • अपने keyword का उपयोग Title, Meta description और content में करना।

2. Off-Page SEO क्या होता है

Blog के बाहर होने वाले काम का हिस्सा हैं Off Page SEO इसे हमेशा Blog के बाहर ही किया जाता हैं। Off Page SEO करने के लिए हमे अपने blog का प्रचार या Pramotion करना परता हैं।

अगर हम बात करें की ये कैसे करना है तो उसके लिए आपको अच्छे Domain authority वाले websites पर Backlink बनाना परेगा। ये आप कैसे करेंगे?

इसके लिए आपको popular blogs पर जाके comment में अपनी blog का link Submit करना होगा। Backlink से website को काफी अच्छा Profit होता हैं।

Visitors बढ़ाने के लिए आपको Social Media का अच्छी तरह से उपयोग करें जैसे Facebook, Twitter, Instagram, YouTube आदी पर अपने website को represent करें और आपको Follow करने वालों की संख्या को बढ़ाएं।

बड़े बडे़ blogs पर जाके Guest Post लिखें इससे आप बड़े पैमाने पर अपनी पहचान बना पाएंगे और आपके ब्लॉग पर लोग आने लगेंगे।

3. Local SEO क्या होता है

शायद आप जानना चाहते होंगे की Local SEO क्या होता हैं लेकिन इस बात का जवाब इसके सवाल में ही छिपा हैं।

Local SEO को अगर परिभाषित करें तो आप यहां देखें तो Local+SEO के संयुक्त रूप से ये शब्द बनता हैं यानी इसका मतलब यह होता हैं कि Local Audiance को लेकर किया गया SEO ही Local SEO किया जाता हैं।

Local Audiance के लिए किए जाने वाले इस खास तौर के SEO के technique के कारण search engine पर यह Local Audiance के लिए ही rank होता हैं।

Local SEO का उपयोग सिर्फ paticular locality को target करने के लिए Bloggers द्वारा किया जाता हैं लेकिन website के माध्यम से आप चाहे तो पूरे Internet को भी Target कर सकते हैं।

Local SEO का Example

local business में यह काफी ज्यादा किए जाते हैं। मन लें की आपने एक दुकान खोला हैं और कई लोग आपके दुकान पर आते हैं और आपके Products Buy करते हैं।

इस समय आप अगर एक Website चलते हैं और आपने उसे ऐसे Optimize किया हैं की लोग आप तक आसानी से पहुंच सकें तो ये आपके लिए बेहतर हो सकता हैं।

अगर आप सिर्फ और सिर्फ अपने आसपास या local area को ध्यान में रख कर के अपनी website का SEO करते हैं तो उसे ही "Local SEO" कहते हैं।

On Page SEO कैसे करें

हमारे पास कुछ ऐसे technique हैं जिनकी मदद से हम आसानी से किसी भी Website या कोई भी Blog का On Page SEO कर सकते हैं।

1. Website Speed

आपकी website की Speed काफी महत्वपूर्ण तथ्यों में से एक हैं। ऐसा मैं इसी कारण से कह रहा हूं क्योंकि एक Survey में यह पता चला हैं की जब कोई Visitor आता हैं तो वो उस website पर ज्यादा से ज्यादा 5 से 6 seconds ही इंतजार करता हैं।

यदि वो page इतने से वक्त में नही खुला तो वो उस page को exit कर जाता हैं। फिर वो दूसरे website पर Migrate हो जाता हैं।

जब ऐसा होता हैं तो google के साथ साथ सभी search engine को ऐसा लगता हैं की ये website अच्छा नहीं लोग इसे जल्दी exit कर जाते हैं और negative signal Google तथा अन्य search engine तक पहुंचते हैं।

इसी कारण से आपको अपने blog या website की Speed अच्छी रखनी होगी।

Important Tips अपनी Blog या website की loading speed Fast करने के लिए:

  • Light और Simple तथा attractive theme को अपने उपयोग में लाएं।
  • अगर Wordpress User हैं तो अधिक plugins का उपयोग न करें।
  • जब आप अपने Blog post में Image का उपयोग करते हैं तो उसका Size कम रखें।
  • WordPress के लिए WP super cache तथा W3 Total cache जैसे plugins का उपयोग करें।

2. Website की Navigation

आपके website का navigation यानी कहें तो आपके website पर आने वाले visitors को आपके website में कहीं पे जाने में कोई भी problem ना हो और इसके साथ साथ Google के crowler को भी इन बातों से परेशानी न हो।

आपकी Website की Navigation जितनी ही आसान होगी उतनी ही Google समेत सभी search engine को आसान होगी आपके blog या website को navigate करने में।

3. Title Tage

अगर आप अपने title को Atrective बनाते हैं तो कोई भी उसे देखते ही उसपर Click कर देता हैं जिससे आपका CTR Increase होता हैं यहीं कारण हैं की आप अपने Title Tage को अच्छी तरह से बनाएं।

अच्छे Title Tage कैसे बनायें : अगर आप अपने Title में 50-60 Words का उपयोग करते हैं तो वो SEO के लिए बेहतर होता हैं और चुकीं Google 60 words के बाद के Words को Search Results में title tage के रूप Show नहीं करता हैं इसीलिए अपने Title में 60 से ज्यादा words का उपयोग न करें।

4. Post का URL कैसे लिखें

जब आप अपने Post का URL बना या लिख रहें हो तो हमेशा कोशिश करें की वो Shimple और थोड़ा छोटा हो जैसे कि आप हमारे posts के Links या URL Open करके देख सकते हैं।

5. Internal Link

Internal Link ये अपने Blog के Posts को rank करने में काफी ज्यादा महत्वपूर्ण हैं। इससे यह होता हैं की आप अपने Related articles को एक दूसरे से Interlinking या internal linking कर सकते हैं,

इससे आपके Interlinked posts Google तथा अन्य search engine पर रैंक हो सकते हैं।

6. Alt Tage

जब आप अपने blog में post लिखते हो तो कई बार आप Images का उपयोग न करते हैं इससे आपका blog थोड़ा फीका हो जाता हैं और Images से भी Traffic लिया जा सकता हैं पर इसके लिए आपको अपने keywords को Alt Tage के रूप में Images में Use करना होगा।

7. Content, Heading और keyword

Content काफी महत्वपूर्ण करी हैं किसी भी blog post में क्युकी content के द्वारा ही हम visitors के सवालों के जवाब देते हैं।

Content हमेशा ही Importent हैं लेकिन इसका मतलब बिलकुल ये नही है की आप content के जगह कुछ भी लिख देंगे।

हमेशा अच्छी और Informative Content को ही लिखे जो जरूरी हो ताकि google और user को ये Low value content ना लगें। Content हमेशा 800 से ज्यादा शब्दों का लिखें।

कभी भी किसी अन्य blog या website के Content copy और न चुराए। अपने से बड़ी content लिखें इससे आप पूरी तरह से उस विषय के बारे में बता भी देंगे तथा ये SEO के लिए भी काफी अच्छा होता हैं।

Heading

एक बात का हमेशा ही ध्यान रखें वो हैं Headings चुकीं इस बात का SEO पर बहुत Impact परता हैं। किसी भी article का H1 उसका Title ही होता हैं

इसके बाद आप अपने Sub Headings जैसे H2, H3, H4 इत्यादि का उपयोग कर सकते हैं। इनके साथ साथ आप अपने main या Focus Keyword का Use कर सकते हैं।

Keyword

अगर आप LSI Keyword का उपयोग करते हैं तो आप आसानी से लोगों के searches को Link कर सकते हैं। अगर आप लोगों और google के crowler को अपने post की तरफ आकर्षित करना चाहते हैं

तो उसके लिए आपको अपने main keyword को अपने content में जगह जगह पर Bold करने होंगे जिससे लोग उसपर ध्यान देंगे और साथ ही साथ google तथा अन्य search engine को ये पता भी चलेगा की आपका content किसके related हैं।

ये थे कुछ point On Page SEO करने के।

Off Page SEO कैसे करें ?

नीचें कुछ बेहतरीन Off Page SEO Techniques हैं जिसके मदद से आप आसानी से इसे कर सकते हैं और ये आपके लिए काफी अच्छा होने वाला हैं।

1. Search Engine Submission

मेरी माने तो आपको अपने blog या website को हर search engine पर नियमपूर्वक submit करना चाहिए।

2. Bookmarking

Bookmarking वाले websites पर जाके आपको अपने blog और posts को submit कर देना चाहिए।

3. Directory Submission

High PR वाले Directory में अपने Blog या Website को Submit करना बहुत ही आवश्यक होता हैं।

4. Social Media

अपने ब्लॉग के name पर social media platforms पर जाके pages create करके अपने blog का link को add करना चाहिए।

5. Classified Submission

अपने blog को Free में advertise करना चाहिए Free Classified Submission Website पर जाके।

6. Q & A site

बहुत सी ऐसी website होती हैं जहां Questions and Answers होती हैं ऐसे वेबसाइट पर आधे आधे जवाब के साथ अपने Blog के लिंक को submit करें।

7. Blog Commenting

आपके related articles वाले websites पर जाके अपने article के लिए Do Follow Backlink बनाएं।

8. Pin

अपने blog का traffic increase करने के लिए आप Pintrest का उपयोग कर सकते हैं।

9. Guest Post

अपने website के related अन्य दूसरे websites पर जाके Guest Post लिखने की कोशिश करें और उसके माध्यम से Do Follow Backlink बनाएं।

SEO और Internet marketing में क्या Differnce है ?

Internet marketing का एक हिस्सा SEO ही होता हैं। Internet marketing को लेकर लगभग लोग doubts में ही रह जाते हैं लेकिन प्रायः ये दोनो बातें समान ही होती हैं इनमे उतना ज्यादा फर्क नहीं हैं।

SEO Internet Marketing का एक हिस्सा होने के साथ साथ एक Tool भी हैं। अगर हम SEO का अच्छा उपयोग कर पाते हैं तो Internet Marketing काफी ज्यादा ही आसान हो जाता हैं।

SEO और SEM में क्या Difference हैं

SEM का काफी महत्वपूर्ण हिस्सा माना जाता हैं SEO चलिए कुछ अंतरो को देखते हैं इन दोनो के बीच:

SEO

SEM

SEO यानी Search Engine Optimization का उपयोग अपने website या blog को google, bing, yahoo जैसे search engine पर ले जाने तथा उसे Rank कराने के लिए किया जाता हैं। SEO करने से Blog तथा उसमे उपस्थित Content जैसे की articles वो search engine के नजरो पर आ जाते हैं जिससे वो rank भी करते हैं और वहां से Free Traffic भी आने लगता हैं।

SEM का Full Form Search Engine Marketing होता हैं जो की एक Marketing Process हैं जिसके उपयोग से आप अपने Blog या website को search engine में आसानी से Visible कर सकते हो जिससे आपके website पर Free Traffic आए या Paid Traffic आए।

SEO और SEM के बीच निम्न अंतरे हैं:

SEO का काम है की वो आपके blog को Search engine पर अच्छा rank लाने के लिए optimize कर देता हैं। जबकि अगर हम SEM की ही बात करें तो ये सिर्फ Free traffic ही नहीं बल्कि इसके साथ साथ PPC advertising जैसे तरीके भी मिले होते हैं।

SEO Terms के बारे में जानकारी (Basic SEO Terms in hindi)

अगर आपने भी Blogging किया हैं या फिर किसी भी Website को Handle किया हैं तो आपको कुछ SEO basics के बड़े में जरूर ही पता होगा लेकिन फिर भी आप बहुत सी Informations नहीं जानते होंगे इसके बारे में या फिर Basic SEO Terms के बारे में।

मैने यह सोचा की आपलोंगो पहले कुछ Importent Basic SEO Terms in hindi के बारे में बता दूं इससे आप भी इस चीज को समझ जाओगे।

Backlink

SEO के तरफ अगर आप जाओगे तो आपको Backlink नाम का शब्द जरूर सुनने को मिलेगा क्योंकि Backlink SEO के लिए Most Importent हैं।

Backlink कोई नामों से भी जाना जाता हैं जैसे कि inlink या simply link आदि। ये एक Hyperlink होता हैं क्योंकि आप जब दूसरे blog पर जाके अपने website का url डालते हो तो जब कोई उस link पर click करता हैं तो वो आपके website के तरफ ही इशारा करता हैं।

Page Rank

Page Rank एक ऐसा Technique हैं जिसका उपयोग Search engine करता हैं आपके Website में keywords के related pages को ढूंढने के लिए।

Anchor text

Anchor text वो होता हैं जो की Backlink बनाते समय clickble होता हैं जैसे की मैने यहां अपने website के URL के उपर Anchor Text का Use किया हैं जो ये हैं - Facts Online अगर आप अपना Anchor Text कोई Keyword को ही बनाते हैं तो वो SEO के लिए काफी बेहतर होता हैं।

Title Tage

Google’s Search Algorithm के अनुसार किसी भी Web Page का Title ही उसका Title Tage होता हैं जो काफी महत्वपूर्ण Factor माना जाता हैं।

Meta Tags

Content किस keyword के related हैं इस बात की जानकारी किसी भी search engine को meta tags के ही मदद से होता हैं।

Search Algorithm

ये माना जाता हैं की Google के Search Algorithm में 200 के आसपास algorithms काम करती हैं। कोन कोन सी Web Pages relevant हैं पूरे Internet पर इस बात की जानकारी आप Google’s search algorithm से ले सकते हैं।

SERP

Search engine results page ही SERP का पूर्ण रूप होता हैं। ये उन्ही pages को show करता हैं जो की search engine के लिए Relevant होता हो।

Keyword Density

SEO की नजरिए से देखा जाय तो ये बहुत Importent होता हैं। Article में आपने कितनी बार किसी keyword का Use किया गया हैं ये बात Keyword Density से पता चलती हैं।

Keyword Stuffing

हम कितनी बार हम keywords का उपयोग करते हैं ये article के size पर निर्भर करता हैं और हम हमेशा ही SEO के दृष्टिकोण से keywords का उपयोग करते हैं

लेकिन जब वो keyword आवश्यकता से अधिक use होने लगे तब उसे Keyword Stuffing कहते हैं। इससे Blog पर negative असर होता हैं इसी कारण से ये Negative SEO कहलाता हैं।

Robots.txt

Domain के root में रखें जाने वाले इस file का उतना ज्यादा महत्व नहीं हैं इसके मदद से Search engines के bots को ये बताया जाता हैं की कोन pages को Index करना हैं और किस page को index नहीं करना हैं।

Organic और Inorganic results क्या होते हैं?

SERP या कहें तो Search Engine Result Page पर ये दो तरह की होती हैं:

  1. Organic
  2. Inorganic

अगर हम Inorganic Listing करना चाहते हैं तो उसके लिए हमें Google को Money देने होंगे। वहीं इसके ठीक उलट organic listing मुफ्त यानी Free होती हैं।

यानी हमें गूगल पर रैंक उपर करके traffic ले सकते हैं लेकिन इसके लिए आपको अपनी website की अच्छी तरह से SEO करनी पड़ेगी।

क्या SEO सिखाना या करना आसान है?

SEO में कुछ समय अंतराल पर बदलाव आते ही रहते हैं जिसके कारण कोई यह नहीं कह सकता हैं की वो SEO को पूरी तरह से master कर लिया हैं।

Google Algorithms पर आधारित कुछ नियमों को ही SEO का नाम दे दिया गया हैं लेकिन समय समय पर होने वाले बदलाव के कारण आपको निरंतर ही SEO के बारे में कुछ नया सिखाना परेगा। चुकीं SEO का कोई rule भी तो नही हैं इसी कारण हम कर भी तो क्या सकते हैं।

एक महत्वपूर्ण बात जिसका ख्याल आप हमेशा ही रखें क्योंकि आज तक कोई ऐसा इंसान नही आया जिसने की सिद्ध किया हो की को SEO expert हैं इसीलिए अगर आप से कोई यह कहें की वो SEO Expert in Hindi हैं तो उनकी बातों पर ध्यान ना दें क्योंकि SEO पर किसी ने Mastery नहीं किया हैं।

SEO एक ऐसी तकनीक हैं जो की समय समय पर बदली जाती हैं। Google SEO guide के कुछ Fundamentals अभी भी नहीं बदलते हैं जिसके कारण आपको इनके बारे में जरूर पता होना चाहिए।

सबसे महत्वपूर्ण बात ये की हर Blogger को अपने blog के लिए SEO के नए trends को ध्यान में रखना काफी ज्यादा आवश्यक होता हैं जिससे वो SEO के अपने Knowladge को Uptodate रख सकें।

इससे यह होगा की आपको market में चल रहें new SEO techniques के बारे में पता रहेगा जिसके उपयोग से आप अपने ब्लॉग को search engine पर rank करा सकें।

क्या SEO हमेशा बदलता रहता है?

हाँ, लेकिन ये इतनी जल्दी नहीं बदलती हैं। जब search engine अपने algorithm को बदलते हैं तब ही SEO में बदलाव की आवस्यकता आन परती हैं। इस बदलाव से हमारी Blog SERP में अच्छी rank पर जाने लगती हैं।

सबसे Best SEO Strategy क्या है?

SEO की Techniques हमेशा ही Change होती रहती हैं क्योंकि search engine अपने algorithm को बदलते रहते हैं इसी कारण कोई भी Strategy Best SEO Strategy नहीं हो सकती हैं।

इसके लिए आपको खुद से Resarch और Experiment करने पड़ेंगे जिससे आपको SEO के सही working Technique के बड़े में पता चलेगा।

क्या Page Speed मायिने रखता है Google Ranking में?

हाँ, Google Ranking  में page speed का काफी ज्यादा महत्व हैं। आपकी Page का Speed जितना ज्यादा सहीं होगा आप उतना ज्यादा अपनी SERP सुधार सकते हैं।

आज आपलोंगो ने क्या सीखा

आज मैने बताया की SEO क्या है और सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कैसे करते हैं? आशा करता हूं की आप इन Topics को अच्छी तरह से समझ गए होंगे। अगर अभी भी कोई doubts बची हुई हो तो आप comment box के सहारे हमसे question पूछ सकते हैं।

Also Read

Comments

Popular posts from this blog

You Know How to Earn 1000 Rs Per Day Without Investment Online ?

If you are looking for it, You have come to the right place. Here we will show you How to Earn 1000 Rs Per Day Without Investment Online ? If you follow the simple techniques that we are going to share with you in this article, you will be able to earn money online free. India is a developing country with a fast-growing internet user base. India had almost 300 million internet users as of July 2017, according to a report by the Internet and Mobile Association of India. This is increasing of about 30% in one year. This is the reason why Indian entrepreneurs are striving to earn money through the internet. One of an option to earn money online All you need to do is to create a website and post articles, videos, and other content on it. It is possible to earn money through various ways. Personally, I am not a big fan of any online business opportunity that requires you to pay for anything to be part of it. I am not saying that free online businesses do not exist. I am saying that I am not

जानिए Blogger में Responsive Table कैसे बनाए

इस पोस्ट में, आप सीखेंगे कि HTML और CSS कोड की मदद से  Blogger में Responsive Table कैसे बनाए  ? और साथ में आप यह भी जानेंगे कि Responsive Table क्या है और यह कैसे काम करती है ? Responsive Table क्या है और यह कैसे काम करती है ? वह Table जो Device के Screen Size के अनुसार अपने आकार को स्वचालित रूप से बदल सकती है, Responsive Table कहलाती है ।  Responsive Table अलग-अलग Size के Device में अलग - अलग दिखती है, जैसे कि अगर आप इसे Mobile में खोलेंगे तो यह Mobile Size में नजर आएगी और Tab में Open करने से यह उसके अनुरूप Size में नजर आएगी और अगर आप इसे Computer में खोलेंगे तो, Computer का आकार में यह आपको दिखाई देगा। तो इस तरह से Responsive Table काम करती है। आपकी  Website  या  Blog  की Theme एक Responsive Theme है तो आपको उसके अंदर एक Responsive Table का इस्तेमाल करना चाहिए। यदि आप Responsive Theme के अंदर Responsive Table का उपयोग नहीं करते हैं, तो जब कोई आपकी Website या Blog को Mobile पर खोलता है, तो आपका Table उसे पूरी तरह से दिखाई नहीं देगा। इससे आपकी Website पर Negative impact पड़ेगा। तो आ

जानिए Google Ranking Dropped या Down होने के क्या कारण है?

आज के समय आपकी Website की Google Ranking Dropped या Down होने के क्या कारण है? ये बात आपने कई बार सोची होगी लेकिन आप इसके बारे में अभी तक सही से कुछ भी जान नहीं पाए होंगे। आज हम इसी topic पर बात करने जा रहे है। कल्पना कीजिए कि आप एक सुबह उठते हैं, अपनी Ranking Report देखते हैं, और देखते हैं कि आपकी Site की कड़ी मेहनत से अर्जित Ranking पूरी तरह से बदल गई है। यह Google के top 10 और top 100 से गायब हो गया, कोई निशान नहीं बचा। मान लें कि Ranking Report और आपकी Website की स्थिति में अचानक गिरावट आई है। आप क्या करोगे? इससे पहले कि आप कोई कार्रवाई करें, आपको पता होना चाहिए कि Ranking में अचानक गिरावट कोई असामान्य बात नहीं है और यह कई websites द्वारा अनुभव किया गया है। दूसरी चीज जो आप कर सकते हैं वह है अपनी गलतियों की एक Checklist पर ध्यान देना, देखें कि क्या उनमें से किसी ने गिरावट की शुरुआत की है, और खोजे गए मुद्दों को ठीक करें। समस्या के आधार पर, आपकी website या तो कुछ ही दिनों में अपनी स्थिति वापस ले लेगी या कई महीनों के दौरान वापस ऊपर आ जाएगी। आपको अवगत कराने के लिए, यहां ranking में अचान